Breaking News



StwalwartSoft

Samsung J7 Prime

BIG DEAL BY AMAZONE

MULTI MEDIA AD AGENCY

केन्द्रीय उच्च स्तरीय टीम: निपाह वायरस रोग प्रकोप नहीं, मात्र स्थानीय स्तर का संक्रमण

एनबी डेस्क:-- केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री जे.पी. नड्डा के निर्देश पर गठित राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केन्द्र (एनसीडीसी) के नेतृत्व में विशेषज्ञों की केन्द्रीय टीम वर्तमान में केरल में निपाह वायरस के संक्रमण की स्थिति की लगातार समीक्षा कर रही है। निपाह वायरस के संक्रमण से मृत्यु के मामलों की समीक्षा करने के बाद केन्द्रीय उच्च स्तरीय टीम का मानना है कि निपाह वायरस से फैला रोग प्रकोप नहीं, बल्कि मात्र स्थानीय स्तर का संक्रमण है। इसी के अनुसार टीम ने दिशा-निर्देश का प्रारूप तैयार कर स्वास्थ्य कर्मियों के लिए सलाह, आम जनता के लिए जानकारी, जांच के नमूने एकत्रित करने के बारे में सलाह भी जारी की है। केन्द्रीय टीम ने अस्पतालों में भर्ती मरीजों की स्थिति की समीक्षा करने और रोग के रोकथाम के लिए आगे की कार्रवाई पर विचार-विमर्श के लिए आज जिलाधीशों और अस्पताल के चिकित्सा तथा परा-चिकित्सा कर्मचारियों के साथ बैठक की। रोग नियंत्रण के लिए अब तक किए गए प्रयास सफल रहे हैं, क्योंकि नए क्षेत्रों में यह बीमारी नहीं फैली है। वायरस के सम्पर्क में आने वाले लोगों की पहचान करने की रणनीति भी सफल रही है। जनता के बीच जागरुकता बढ़ाई जा रहा है। लोगों से सुरक्षित और साफ-सफाई रखने तथा पशु-पक्षियों का जूठे फल/सब्जियां न खाने एवं संक्रमित व्यक्ति/क्षेत्र के नजदीक जाने पर सावधानी बरतने को कहा गया है। राज्य सरकार ने भी स्थानीय भाषा में परामर्श जारी किए है। प्रभावित क्षेत्रों में शुरूआत से ही केन्द्रीय और राज्य की टीमों की मौजूदगी और उनके द्वारा निगरानी तथा रोकथाम की कार्रवाई से लोगों में भरोसा बढ़ा है। टीम ने अस्पतालों के साथ मरीजों के प्रबंधन और ईलाज के बारे में समीक्षा/चर्चा भी की। संदिग्ध मरीजों को कोझीकोड मेडिकल कॉलेज और त्रिवेंद्रम मेडिकल कॉलेज में रखा गया है। 24.05.2018 तक मरीजों और रोग से मरने वालों का विवरण निम्नलिखित हैं- :-रोग से ग्रसित मरीजों की संख्याः 14 :-संदिग्ध मरीजों की संख्याः 20 :-कुल लोगों की मृत्युः 12 (9 कोझीकोड और 3 मलापुरम से)

भारतीय वायु सेना ने संभाला कटरा के जंगल की आग को बुझाने का जिम्मा

एन बी डेस्क: उत्तराखंड के जंगलों में भभकती आग को बुझाने के लिए भारतीय सेना को आना पड़ा है। इस काम को पूरा करने के लिए भारतीय वायु सेना ने कटरा के जंगल में लगी आग को बुझाने के कार्य में बाम्बी बकेट के साथ एमएलएच श्रेणी के हेलीकॉप्टर को तैनात किया है। आज ब्रहस्पतिवार को दो हेलीकाप्टर के साथ यह अभियान आज सुबह शुरू हुआ, जिसमें पश्चिमी वायु कमान के डेयरिंग ड्रेगन और स्नो लेपर्ड यूनिट के एक-एक हेलीकॉप्टर शामिल हैं। हेलीकॉप्टरों ने रियासी जलाशय से विशेष रूप से निर्मित बाम्बी बकेट में पानी भरा। इन बकेट में एक बार में लगभग 2500 लीटर पानी भरा जा सकता है। पहली बकेट अर्धकुंवारी से भवन तक के नए मार्ग के क्षेत्र में गिराई गई। प्रमुख विमान के कैप्टन विंग कमांडर विक्रम ने कहा, ‘क्षेत्र में खतरनाक भू-भाग और हाई टेंशन केबल होने के कारण यह एक चुनौतीभरा काम था।’ इस प्रकार के अभियानों के लिए पायलट अधिक कुशल होने चाहिए, जो भारी वजन के साथ उड़ान भर सके। दूसरे विमान के कैप्टन विंग कमांडर राहुल ने कहा, ‘ऐसी स्थितियों से निपटने के लिए हम प्रशिक्षित होते है। यह अभियान आग पर काबू पाने तक जारी रहेगा।’ अभियान की जटिलता को देखते हुए कल इस क्षेत्र की रेकी की गई थी।

कैराना उपचुनाव में गठबंधन को बताया स्वार्थ का गठबंधन

आदेश सैनी; संवाददाता मुज़फ्फरनगर:-- कैराना उपचुनाव को लेकर आज कैराना में हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओ से मिलकर वापस लौट रहे हिन्दू युवा वाहिनी के प्रदेश प्रभारी और डूंगरिया से बीजेपी विधायक राघवेंद्र सिंह जब मुज़फ्फरनगर पहुंचे तो यहां पर भी हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओ द्वारा उनका स्वागत किया गया। जहा मीडिया से बात करते हुए उन्होंने विरोधी पार्टी का गठबंधन स्वार्थ का गठबंधन बताया उन्होंने कहा की में कैराना के चुनाव में अपने हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओ से मिलने गया था। क्योकि ये चुनाव काफी महत्वपूर्ण है उत्तरप्रदेश के लिये। आज देश में माननीय मोदी जी के नेतृत्व में राष्ट्रवादी अभियान की चर्चा पुरे देश में है। और उत्तरप्रदेश में पूजिय योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में राष्ट्रवादी अभियान और विकास का अभियान है। आज से साल डेढ़ साल पहले पश्चिमी उत्तरप्रदेश की स्तिथि और आज में बहुत परिवर्तन है इसीलिए कैराना का चुनाव भारतीय जनता पार्टी के लिए जीतना बहुत महत्वपूर्ण है। विरोधी जो गठबंधन किये हुए है वो सवार्थ का गठबंधन है। चुनाव हारते ही उनका गठबंधन टूट जायेगा। कैराना में भारतीय जनता पार्टी बहुत अच्छी वोटो से जितने जा रही है। क्योकि योगी आदित्यनाथ महाराज जी के 14 महीने के कार्य और भारत के माननीय प्रधान मंत्री माननीय मोदी जी के 4 वर्ष के कार्यकाल का काम

भारतीय रेल के भव्य स्टेशन, छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस भवन के 130 वर्ष

एनबी डेस्क:- छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (पूर्व में विक्टोरिया टर्मिनस) ने 20 मई, 2018 को अपने निर्माण के 130 वर्ष पूरे कर लिए हैं। मध्य रेल का मुख्यालय भवन जिसका लोक प्रिय नाम विक्योरिया टर्मिनस (अब छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस) है, वास्तु-कला का उत्कृष्ट नमूना है। प्रारम्भ में इस भव्य भवन में जीआईपी (ग्रेट इंडियन पेनिसुलर) रेलवे का कार्यालय स्थापित करने की योजना बनाई गई थी। ताज महल के पश्चात् यह इस भवन के सबसे अधिक फोटो खीचे जाते हैं। इस भवन का डिजाइन वास्तुकार फ्रेडरिक स्टीवेंस ने तैयार किया था। इसके निर्माण में एक दशक का समय लगा तथा 16,13,863 रूपये की लागत आई। स्टीवेंस के द्वारा डिजाइन किए गए इस ऐतिहासिक टर्मिनस को उस समय एशिया के सबसे बड़े भवन का दर्जा हासिल था। इसका निर्माण 1878 में शुरू हुआ और 1887 में महारानी विक्टोरिया के नाम पर इसका नाम विक्योरिया टर्मिनस रखा गया। 1996 में इसका नाम बदलकर छत्रपति शिवाजी टर्मिनस रखा गया। जुलाई 2017 में इसका नाम छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस रखा गया। 2004 में यूनेस्को ने इस भवन को वास्तु कला की उत्कृष्टता के लिए विश्व विरासत की सूची में स्थान दिया। दिसंबर 2012 से इस विरासत भवन को सभी कार्य दिवस में लोगों के भ्रमण के लिए खोला गया है। शिवाजी महाराज टर्मिनस (पहले विक्टोरिया टर्मिनस) का निर्माण 16.14 लाख रुपये की लागत से किया गया था। गॉथिक शैली में डिजाइन किए गए इस भवन को भारतीय संदर्भ के अनुरूप निर्मित किया गया था। यह एक सी-आकार की इमारत है जिसका निर्माण पूर्व पश्चिम धुरी पर समरूप तरीके से किया गया है। पूरी इमारत का सर्वोत्कृष्ट बिंदु मुख्य गुंबद है। इस पर एक विशाल महिला की आकृति (16 फुट 6 इंच) है। उसके दाहिने हाथ में एक ज्वलंत मशाल है जो ऊपर की ओर इशारा करता है और बाएं हाथ में एक कमानीदार पहिया है जो 'प्रगति' का प्रतीक है। इस गुंबद को पहला अष्टकोणीय धारीदार चिनाई गुंबद माना जाता है जिसे इतालवी गॉथिक शैली की इमारत के अनुरूप बनाया गया था। 1929 में इस स्टेशन में 10.4 लाख रुपये की लागत से 6 प्लेटफॉर्म बनाए गए। पहले पुनर्निर्माण के पश्चात् प्लेटफॉर्मों की संख्या 13 हो गई। यार्ड और स्टेशन में फिर कुछ बदलाव किए गए। 1994 में प्लेटफॉर्मों की संख्या 15 हो गई। अभी इस स्टेशन में 18 प्लेटफॉर्म हैं। पूर्व से प्रवेश करने के लिए खुली जगह है। अप्रैल 2018 में प्लेटफॉर्म संख्या 18 के बगल में एक विरासत गली का निर्माण किया गया है। इसमें जीआईपी हेरिटेज इलेक्ट्रिक लोको, सर लेजली विल्सन तथा अन्य विरासत की वस्तुएं प्रदर्शित की गई हैं। छत्रपति शिवाजी टर्मिनस भवन के शताब्दी समारोह के दौरान एक डाक टिकट जारी किया गया था। 2013 में भवन के 125 वीं वर्षगांठ के अवसर पर एक विशेष डाक कवर जारी किया गया था।

सेवा जीवन विस्‍तार की वैधता के लिए ब्रह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण

एनबी डेस्क:- सोमवार सवेरे 10:40 बजे ओडिशा तट के चांदीपुर स्थित एकीकृत परीक्षण केन्‍द्र (एटीआर) से ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया। यह परीक्षण ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल की सेवा अवधि बढ़ाने के लिए किया गया। मिसाइल के परीक्षण को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) तथा ब्रह्मोस के वैज्ञानिकों ने देखा। परीक्षण के साथ यह मिसाइल निर्धारित मार्ग पर चला और इसके उपकरणों ने सम्‍पूर्णता के साथ कार्य किया। ब्रह्मोस भारत के डीआरडीओ तथा रूस के एनपीओएम का संयुक्‍त उद्यम है। ब्रह्मोस मिसाइल आधुनिक युद्ध प्रणाली में सर्वश्रेष्‍ठ हथियार के रूप में उभरा है और इसकी गति, निशाना तथा गोलाबारी बेजोड़ है। रक्षामंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमन ने ब्रहमोस मिसाइल के सफल परीक्षण के लिए डीआरडीओ तथा ब्रहमोस की टीम को बधाई दी और कहा कि भारतीय सशस्‍त्र सेना की इन्‍वेंटरी में रखे गये मिसाइलों को बदलने की लागत में बड़ी बचत होगी। डीआरडीओ के अध्‍यक्ष और रक्षा अनुसंधान और विकास विभाग के सचिव डॉ. एस.क्रिस्‍टोफर ने सेवा अवधि विस्‍तार के लिए ब्रहमोस मिसाइल के सफल परीक्षण पर डीआरडीओ तथा ब्रह्मोस के वैज्ञानिकों को बधाई दी। महानिदेशक (ब्रह्मोस) तथा सीईओ और प्रबंध निदेशक ब्रह्मोस डॉ. सुधीर मिश्रा ने सफल परीक्षण के लिए टीम को बधाई दी और कहा कि इस परीक्षण से भारतीय सशस्‍त्र सेना को आर्थिक रूप से लाभकारी और अधिक अवधि के लिए इन्‍वेंटरी रखने में मदद मिलेगी।

हमें फोकस करना होगा कि कैसे विज्ञान और प्रौद्योगिकी बेहतर जीवन ला सकती है : उपराष्ट्रपति

एनबी डेस्क:-- आदि शंकर न केवल दार्शनिक थे बल्कि असाधारण कवि भी थे उपराष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडू ने कहा है कि सकल राष्ट्रीय आय के साथ-साथ हमें इस बात पर फोकस करना चाहिए कि कैसे विज्ञान और अधिक प्रौद्योगिकी खुशहाली और बेहतर जीवन ला सकती है। उपराष्ट्रपति सोमवार कोच्चि में आदि शंकर इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी संस्थान में आदि शंकर युवा वैज्ञानिक पुरस्कार 2018 प्रदान करने के बाद समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर केरल के राज्यपाल न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) पी शतशिवम तथा अन्य अतिथि उपस्थित थे। उपराष्ट्रपति ने कहा कि आदि शंकर युवा वैज्ञानिक पुरस्कार 2018 हमारे युवा भारत में जिज्ञासा, सरलता और नवाचारी पहल का साक्षी है। उन्होंने कहा कि इस आशा और विश्वास के साथ भारत अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में फिर से अपना उचित स्थान प्राप्त करने में सक्षम होगा। उन्होंन कहा कि हमारे देश में मानवीय ज्ञान में प्रगति जानने की भावना, प्रश्न करने की सक्षमता, अनुसंधान योग्यता और सत्य के निष्कर्ष पर पहुंचने की सक्षमता के कारण हुई है। उपराष्ट्रपति ने उत्कृष्टता के लिए तीन गुणो की चर्चा की पहला गुण है – प्रत्येक व्यक्ति संस्थान और संसाधन से जानने की उत्सुकता, दूसरा परख, विश्लेषण की क्षमता और तीसरा गुण नए समाधान के लिए खोज करना है ताकि समस्या का निराकरण हो सके। उपराष्ट्रपति ने कहा कि आदि शंकर न केवल महान दार्शनिक थे बल्कि असाधारण कवि भी थे। उन्होंने कहा कि आदि शंकर ने अद्वैत दर्शन की व्याख्या की जिसके अनुसार ज्ञान के माध्यम से मानव लौकिक हो सकता है और अंतिम लक्ष्य सतचित आनंद का अनुभव करना है। उपराष्ट्रपति ने कहा कि ज्ञान हमें चतुर बनाता है और अपने जीवन में सुधार के लिए चतुराई के साथ ज्ञान का उपयोग करना होगा। उन्होंने कहा कि हम सभी आखिरकार आनंद की इच्छा रखते हैं और इसीलिए हम सकल राष्ट्रीय खुशहाली की बात करते हैं। उन्होंने कहा कि हमें श्रेष्ठ भारतीय परंपरा से प्रेरणा लेनी चाहिए और पुरनी अनुपयोगी बातों का त्याग करना चाहिए। उपराष्ट्रपति ने पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी और कहा कि इस तरह के पुरस्कार हमारी शिक्षा प्रणाली का हिस्सा हो गए हैं।

राष्ट्रपति डा. वाई.एस. परमार औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय के 9 वें दीक्षांत समारोह में उपस्

एनबी डेस्क:-- राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने आज (21 मई, 2018) हिमाचल प्रदेश के सोलन में डा. वाई. एस. परमार औद्यानिकी और वानिकी विश्वविद्यालय के 9 वें दीक्षांत समारोह को संबोधित किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में राष्ट्रपति महोदय ने कहा कि डा. वाई.एस. परमार विश्वविद्यालय को एशिया के पहले औद्यानिकी (बागावानी) विश्वविद्यालय होने का गौरव प्राप्त है। हिमाचल प्रदेश जैसे पहाड़ी क्षेत्रों के किसानों के लिए बागवानी और वानिकी क्षेत्र में अनुसंधान का विशेष महत्व है। पिछले तीन दशकों में डा. वाई.एस. परमार विश्वविद्यालय ने राज्य की बागवानी व वानिकी के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। राष्ट्रपति ने कृषि क्षेत्र में शिक्षा प्राप्त करने के लिए विश्वविद्यालय के छात्रों को बधाई दी। कृषि क्षेत्र किसानों, ग्रामीण समुदाय तथा पूरे देश की संमृद्धि से जुड़ा हुआ है। इस विद्यालय के छात्र व शिक्षक हिमाचल प्रदेश के किसानों के मित्र और सहयोगी हैं। राष्ट्रपति महोदय ने कहा कि छात्रों के लिए शिक्षा का उद्देश्य केवल नौकरी प्राप्त करना नही होना चाहिए। अपने ज्ञान और कौशल के आधार पर वे अपना स्वयं का उद्यम प्रारम्भ कर सकते हैं। फल और सब्जी के क्षेत्र में असीम संभावनाए हैं। उन्होंने छात्रों से आग्रह करते हुए कहा कि उन्हें केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा प्रारम्भ की गई विभिन्न योजनाओं का लाभ लेना चाहिए।

मुज़फ्फरनगर में सुपारी पूरी करने जाते हुए बदमाशों से पुलिस की मुठभेड़

आदेश सैनी; संवाददाता मुज़फ्फरनगर:-- मुज़फ्फरनगर की खतौली कोतवाली पुलिस ने व्यापारियों की हत्या करने जा रहे शातिर बदमाशो को मुखबीर की सूचना पर चैकिंग के दौरान रोकना चाहा तो बदमाशो ने पुलिस फ़ायरिग कर दी।जवाब में पुलिस ने घेराबंदी कर चार बदमाशो को गिरफ्तार किया है। बदमाशो के पास से पुलिस ने तीन छुरी एक तमंचा ओर भारी मात्रा में कारतूस बरामद किए है। कल देर रात मुखबीर की सूचना पर मुज़फ्फरनगर की खतौली कोतवाली पुलिस ने चैकिंग के दौरान जब संदिग्ध बाईक सवार बदमाशों को रोकना चाहा तो बदमाशो ने पुलिस पार्टी पर फायर का भागने की कोशिश की पुलिस ने घेराबंदी कर चारो बदमाशो को गिरफ्तार कर लिया बदमाशो से पुलिस ने तीन चाकू ,एक तमंचा ओर भारी मात्रा में कारतूस बरामद किए है। पूछताछ में बदमाशों ने चोकाने वाला खुलासा किया है । इस बारे में एस पी सिटी ओमबीर सिंह ने जानकारी देते हुए बताता की कल रात को खतौली पुलिस द्वारा चैकिंग की जा रही थी इन्हे कुछ संदिग्ध व्यक्ति दिखाई दिए जिन्हे रोकने का प्रयास किया गया तो उन्होंने पुलिस पार्टी पर बिना कुछ सोचे समझे फायरिंग कर दी, पुलिस ने घेराबंदी घेराबंदी कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में इन्होने जो बताया वो रहस्य बड़ा चौकाने वाला था. दो कुल्फी वाले मुकेश और फज़ल है। इनके बगल में एक अन्य कुल्फी वाले ने ठेला लगा लिया था, व्यापारी की पर्तिस्पर्धा को देखते हुए इन्होने एक पालीवाल नाम के व्यक्ति के माध्यम से कपिल नाम के हत्यारे को हायर किया। जो लोग कुल्फी का खोका लगाने का प्रयास कर रहे थे उनको मारने के लिए इन्होने सुपारी दी थी। उसी के लिए ये जा रहे थे। खतौली पुलिस द्वारा संभावित हत्याएं रोकी गयी है. सभी को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है। इनके पास से तमंचे , चाकू और छुरी बरामद हुए है।

सोमवार से प्रधानमंत्री रूस की यात्रा पर

रविवार को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने रूस यात्रा पर जाने से पहले अपना वक्तव्य जारी किया है जिसमे रूस के आम नागरिकों को बधाई दी है. उन्होंने कहा की रूस के लोगों से मिलकर हमेशा प्रसन्नता होती है जिससे मैं इस यात्रा को लेकर बहुत ही उत्साहित हूँ. यू तो प्रधानमंत्री अलग अलग देशों की यात्रा करने के लिए प्रसिद्द है लेकिन इन यात्राओं से हमेशा देश के लिए कुछ न कुछ लेकर ही आते है. रूस की यात्रा को लेकर प्रधानमंत्री बहुत आशान्वित है. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा जब भी मै राष्ट्रपति पुतिन से मिलता हु तो एक अलग ही प्रसन्नता होती है. उन्होंने कहा मुझे विश्वास है कि राष्ट्रपति पुतिन के साथ वार्ता से भारत और रूस के बीच विशेष गौरवशाली रणनीतिक साझेदारी और मजबूत होगी। आपको बतादें की रूस के साथ भारत के पहले से ही राजनीतिक और सैन्य रिश्ते मजबूत रहे है जिनको और मजबूत करने के लिए प्रधानमंत्री सोमवार से रूस की यात्रा पर है. माना जा रहा है कि इस यात्रा में आतंकवाद और अर्थव्यवस्था के साथ साथ विश्वशक्तियों के टकरावों के बारे में बातचीत होगी.

मजदूरी के पैसो के बदले हमला, पुलिस ने लगायी मामूली धारा

आदेश सैनी; संवाददाता मुज़फ्फरनगर: मजदूरी के पैसे मांगने पर दबंगो ने किया मजदुर पर जान लेवा हमला. सुचना पर पहुंची डायल 100 ने मजदुर को किसी तरह दबंगो से छुड़वाकर घायल हुए मजदुर को किया जिला अस्पताल में भर्ती. पुलिस ने मामले को 307 से मामूली धाराओं में किया कन्वर्ट. पीड़ित परिवार के लोगो ने जिला अधिकारी से मिलकर लगाई इंसाफ की गुहार है. दरअसल घटना मुजफ्फरनगर के थाना नगर कोतवाली क्षेत्र के सलेमपुर गांव की है जहा जितेन्द्र नाम का व्यक्ति मुजफफरनगर से सटे गांव सलेमपुर में रणधावा नामक वयक्ति के यहां काफी दिनों से मजदूरी करता था. घटना बीती शाम की है जब मजदूर जितेंद्र ने अपने जमीदार रणधावा से मजदूरी के पैसे मांगे तो दबंग जमींदार ने मजदूर पर जान लेवा हमला कर दिया. सुचना पर पहुंची डायल १०० ने मोके पर पहुंच कर दबंग जमींदार से घायल मजदुर को छुड़ाकर मुज़फ्फरनगर के जिला अस्पताल में भर्ती कराया. अब पीड़ित परिवार के लोगो का आरोप है की मुज़फ्फरनगर नगर कोतवाली पुलिस ने धारा 307 हटाकर आरोपी युवको से सेटिंग कर मामूली धारा लगाकर मामले को घुमाने का काम किया है. अब पीड़ित परिवार के लोगो ने मुजफ्फरनगर जिला अधिकारी से मिलकर इंसाफ की गुहार लगाई है.

निर्माणाधीन फ्लाईओवर के गिरने से कई लोगों की मौत, कई घायल

वाराणसी में रेलवे स्टेशन के सामने एक बड़ा हादसा हुआ है, जिसमे एक निर्माणाधीन पुल का एक हिस्सा धरधराकर गिर गया. पुल के गिरने से कई गाड़ियाँ नीचे दबी हुई है जिसमें अहरौरा की बस भी है। वाराणसी में निर्माणाधीन फ्लाईओवर के गिरने से बारह लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है. बताया जा रहा है के लगभग पचास लोगों के दबे होने की आशंका है. घटना की गंभीरता को देखते हुए डीजीपी ने एनडीआरएफ को रवाना करने के आदेश दिए है. इस घटना पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने दुःख व्यक्त किया है. उन्होंने घायल व्यक्तियों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की। अधिकारियों से बात करके उन्होंने प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता सुनिश्चित करने को कहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना पर दुःख जताया है, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या को वाराणसी घटना को देखने के लिए मौके रवाना हो गये है साथ ही सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी को भी मौके पहुचने के निर्देश दिए गये है. डीजीपी के अनुसार सभी दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी.

तूफ़ान अपने पीछे छोड़ गया, लाखों का नुकसान

दिल्ली ,एनसीआर,हरियाणा, समेत उत्तर प्रदेश में कल देर शाम आये ऑंधी तूफान ओर बरसात ने जहाँ जानमाल को बड़ा नुकसान पहुँचाया है, तो वही मुज़फ्फरनगर में रविवार देर शाम को आये इस तेज़ तूफान और भारी बरसात से आम जन जीवन तो ठप ही हो गया था। वही इस तूफान ने किसानो की मेहनत पर भी पानी फेर दिया है।आपको बता दे की रविवार शाम आई तेज आंधी और तूफान ने तैयार आम की फसल को पल भर में जमीन पर पटक दिया. जिससे किसानो को आम की फसल बर्बाद होने पर भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। किसानो की माने तो कल यहाँ पर बहुत तेज तूफान आया था तूफान से आम की फसल का बहुत नुकसान हुआ है। दो तीन बार तूफान आ चूका है, जो आम की फसल के लिए बहुत ही नुकसानदायक साबित हो रहा है।

महिला सशक्तिकरण के मुद्दे पर पूजा सिकेरा का छात्राओं को संबोधन

आदेश सैनी; संवाददाता: जनपद के मुजफ्फरनगर में कन्या पाठशाला इंटर कॉलेज दक्षिणी प्रेमपुरी में इंटरनेशनल फाउंडेशन रुद्राक्षटिता की ओर से सोमवार को महिला सशक्तिकरण प्रोग्राम आयोजित किया गया. जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में उत्तर प्रदेश के आईपीएस नवनीत सिकेरा की धर्मपत्नी श्रीमती पूजा सिकेरा ने भाग लिया. उन्होंने स्कूल में महिलाओं को उनके अधिकार के बारे में और महिला सशक्तिकरण पर जोर दिया उन्होंने बताया कि महिला हर क्षेत्र में सफलता हासिल कर सकती है। उन्होंने कहा कि भारतीय नारी बड़ी तेजी के साथ हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं तथा देश का नाम रोशन कर रही हैं । यदि देश के अंदर महिलाएं आत्म निर्भर होंगी तो राष्टीय प्रगति एवं उन्नति का मार्ग भी प्रशस्त होगा। इस मौके पर एसएसपी अनंत देव तिवारी की धर्मपत्नी प्रीति तिवारी सीओ सिटी हरीश भदोरिया महिला थाना प्रभारी मीनाक्षी शर्मा व अन्य संगठन के लोग मौजूद रहे क्षेत्रीय पुलिस प्रशासन भी मौजूद रहा।

दिन दहाड़े अधिवक्ता की गोली मारकर हत्या

इलाहाबाद में बदमाशों का हौसला इतना बुलंद दिनदहाड़े बना हुआ है कि दिन दहाड़े कचहरी जाते हुए एक अधिवक्ता की गोली मारकर की हत्या कर दी. इलाहाबाद जनपद न्यायालय के अधिवक्ता राजेंद्र श्रीवास्तव को कचहरी जाते समय बदमाशों ने बाज़ार गोली मारी दी. गोली लगने से राजेश श्रीवास्तव की मौके पर ही मौत हो गयी. घटना की सूचना पाकर पहुंची पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है. घटना थाना कर्नलगंज क्षेत्र के मनमोहन पाक के पास की है. रोज की तरह कचहरी जा रहे वकील राजेश श्रीवास्तव को मनमोहन पार्क के पास पहुचने पर अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी. जिससे अधिवक्ता की मौके पर ही मौत हो गयी. जिससे आस पास ले इलाके में दहशत का माहौल है. आनन-फानन में पुलिस वाले घटनास्थल पर पहुंचे और एसआरएन अस्पताल भेजा गया. जहाँ डॉक्टर में उन्हें मृत घोषित कर दिया. रामबाग के रहने वाले थे राजेश श्रीवास्तव. अधिवक्ता की इस तरह मौत के बाद कचहरी में वकीलों ने हंगामा किया और काम काज ठप रहा.

मुजफ्फरनगर पुलिस ने चंद घंटों में किया लूट का खुलासा

आदेश सैनी; संवाददाता : मुजफ्फरनगर पुलिस ने चंद घंटों में किया लूट का खुलासा लूटे गए कैंटर के साथ लगभग 7 टन सरिया व् ३ शातिर लुटेरों को भी किया गिरफ्तार बताया जा रहा है कि पकड़े गए तीनों ही लुटेरे शातिर किस्म के अपराधी हैं और इससे पहले भी कई घटनाओं को दे चुके है अंजाम दरअसल मामला मुजफ्फरनगर के थाना कोतवाली क्षेत्र वहलना पुलिस चौकी का है जहां रात्रि के 2:00 बजे चेकिंग के दौरान जब तेज गति पर आ रहे कैंटर को पुलिस ने रोकना चाहा तो कैंटर चालक ने कैंटर को तेजी से भगा कर भागना चाहा लेकिन पुलिस टीम ने पीछा कर चालक को रोककर गहनता से पूछताछ की व तलाशी ली तो 12 घंटे पहले लूटा गया केंटर पुलिस के प्रकाश में आया. बताया जा रहा है कि पकड़े गए तीनों लुटेरे नईम ,सादाब , वाजिद बहुत ही शातिर किस्म के लुटेरे हैं और लूट डकैती करना उनका मुख्य पेशा है और इससे पहले भी लूट जैसी कई घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं. पुलिस ने तीनों शातिर अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिए हैं व मुजफ्फरनगर एसपी सिटी ओमवीर सिंह ने बदमाशों की टीम को धर पकड़ करने वाली पुलिस टीम चौकी इंचार्ज राधेश्याम यादव

MULTI MEDIA AD AGENCY

BIG DEAL BY AMAZONE

Samsung J7 Prime

StwalwartSoft

3500

Visitor

390

News Post